हिमाचल के रहने वाले ये आईएएस 10 km पैदल सब्जी लाने जाते हैं पर क्यों ?

0
1260
ias ram singh carrying vegetables with local womens

Himachal Nazar | आमतौर पर आपने जिलाधीष, उपायुक्त, डेप्यूटी कमीश्नर या डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट को लंबी चमचमाती गाड़ी में चलते देखा होगा। उपायुक्त महोदय के साथ पुलिस जवान भी चल रहे होंगे सुरक्षा के लिए, लेकिन एक आईएएस अधिकारी आजकर सोशल मीडिया में तारीफें बटोर रहे हैं। जनाब सब्जी लाने के लिए दस किलोमीटर पैदल निकल जाते हैं और 21 किलो सब्जी खुद उठा कर लाते हैं। उपायुक्त राम सिंह के ऐसा करने के एक नहीं कई सारे कारण हैं।

पारंपरिक किल्टे में सब्जी उठाकर महिलाओं से बात करते आईएएस राम सिंह

आईएएस राम सिंह मूलतः हिमाचल के लाहुल स्पीति जिला के रहने वाले हैं। 2008 बैच के अधिकारी हैं और मेघालय के वैस्ट गारो हिल्स में बतौर उपायुक्त तैनात हैं। यूं तो राम सिंह अपने जिला में अपने काम और जनता से मेलजोल के चलते पहले ही काफी चर्चित हैं, लेकिन ये चर्चा देश भर में तब होने लगी जब इन्होंने फेसबुक में एक तस्वीर पोस्ट की और फिर वह तस्वीर वायरल हो गई।

पत्नी और बच्चे के साथ सब्जी खरीद लौटते आईएएस राम सिंह

राम सिंह सप्ताह के अंत में सब्जियां लाने के लिए पैदल निकल जाते हैं और सफर भी कोई कम नहीं दस से 12 किलोमीटर का रहता है। राम सिंह ऐसा इसिलए करते हैं ताकि गाड़ी से होने वाले प्रदूषण को रोका जा सके, प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो वह फिट रहें, बिना पेस्टीसाइड के इस्तेमाल से उगी जैविक सब्जियां खरीदें और सबसे खास बात यह कि दूर-दूर से सब्जी लाने ग्रामीण महिलाओं की बिक्री बढ़े। प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो इसके लिए राम सिंह किल्टे का इस्तेमाल करते हैं।

लेबर के साथ काम करते हुए पत्थर उठाते आईएएस

सिर्फ पैदल चल कर सब्जी लाने की बात ही नहीं है। आईएएस राम सिंह की कई ऐसी तस्वीरें देखी जा सकती हैं, जिसमें वह कोई आईएएस अधिकारी लगते ही नहीं बल्कि आम लोगों के साथ उनके लिए कभी रास्ते की खुदाई करने लग जाते हैं तो कभी उनके साथ सामान ढोने वाली जीप में लोगों के साथ बैठे नजर आते हैं। यह आईएएस अधिकारी दूसरे नौकरशाहों के लिए भी नजीर हैं।

राम सिंह की फेसबुक पोस्ट का स्क्रीन शॉट

आईएएस राम सिंह के इस नजरिए और उनकी सादगी की हर जगह तारीफ हो रही है। नेताओं और दूसरे अधिकारियों को भी समझना चाहिए कि असल जनसेवा जनता के साथ जनता की तरह और उनके बीच जाकर हो सकती है न की ऐसी रूम में बैठने से।

आपका क्या कहना है हमें भी जरूर बताएं