Tuesday, June 28, 2022
Homeशिमलाहिमाचल पटवारी भर्ती परीक्षा की सीबीआई जांच के आदेश

हिमाचल पटवारी भर्ती परीक्षा की सीबीआई जांच के आदेश

HIMACHAL NAZAR :- हिमाचल प्रदेश पटवारी भर्ती परीक्षा की सीबीआई (CENTRAL BUREAU OF INVESTIGATION) जांच होगी। हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट ने पटवारी भर्ती परीक्षा की सीबाई जांच के आदेश जारी किए हैं। यहां बता दें कि पटवारी के 1195 पदों के लिए 17 नवंबर को आयोजित भर्ती परीक्षा विवादों के घेरे में आ गई थी।

पटवारी भर्ती परीक्षा में करवाए गए फोन से पेपर ? परीक्षार्थियों ने लगाए आरोप

पटवारी भर्ती परीक्षा में फोन से करवाए गए एग्जामहिमाचल प्रदेश में रविवार को आयोजित पटवारी भर्ती परीक्षा विवादों के घेरे में आ गई है। फेसबुक के Daro Khas, Garh Jamula, Dheera, Thural etc पेज पर अपलोड की गई वीडियो में परीक्षा देने आए अभ्यर्थियों ने फोन से परीक्षा करवाने के आरोप तो लगाए ही बलिक परीक्षा का ही बहिष्कार कर दिया। पुलिस भर्ती परीक्षा के दौरान सामने आए फर्जीवाड़े के बाद यह दूसरा मामला है जब सरकार ने इतनी बड़ी तादाद अभ्यर्थियों के आवेदन मिलने के बाद भी उचित तैयारी नहीं की। हालांकि कहने को तो हिमाचल में कर्मचारी चयन आयोग और हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग भी है, लेकिन इसके बावजूद परीक्षा राजस्व विभाग की ओर से आयोजित की जाए। कई परीक्षा केंद्रों में तो बहुत से परीक्षार्थियों को एक ही रोल नंबर जारी करने के मामले भी सामने आए। वीडियो कांगड़ा जिला के धीरा का बताया जा रहा है। मामले की जांच की जानी चाहिए कि वाकई ऐसा हुआ है या फिर यह अफवाह फैलाई गई।

Posted by Himachal Nazar on Sunday, November 17, 2019

परीक्षा के बाद जहां कई सेंटर में एक ही अभ्यर्थी को दो रोलनंबर देने की बात सामने आई तो कुछ सेंटर में परीक्षार्थियों गलत जगह भेज दिया गया। यही नहीं, एक वीडियो भी काफी वायरल हुआ जिसमें परीक्षा देने वालें कैंडिडेट्स का कहना था कि फोन से भी एग्जाम करवाया जा रहा है।

इतने विवाद के बाद भी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की ओर से सिर्फ इतनी स्टेटमेंट आई की एक-दो एग्जाम सेंटर में कुछ दिक्कतें आई थी जिसे की सुलझा लिया गया है। इसलिए पेपर रद्द नहीं किया जाएगा। इसके बाद कुछ अभ्यर्थियों ने एडवोकेट विनय शर्मा के माध्यम से हाई कोर्ट में याचिका दायर कर दी।

अब हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय की ओर से भर्ती परीक्षा के सीबीआई जांच के आदेश जारी किए गए हैं। इसकी जानकारी अधिवक्ता विनय शर्मा ने अपने फेसबुक वाल पर दी है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments